Saturday, March 24, 2007

दीवाना बन गया

देखी अदा जो तेरी तो

दीवाना बन गया

रोशन हुई शमा तो मैं

परवाना बन गया


जब भी चला मैं संग

तेरा हाथ थाम के

सारे जहाँ कि नज़रों का

निशाना बन गया


तिनके उठा के रख दिए

यूँ खेल खेल में

लेकिन अरे यह देखो

आशियाना बन गया


सब दे रहे हैं दोस्त

यही बार बार तान्हे

था कल तलक 'बल' अपना

अब बेगाना बन गया

2 comments:

Mampi said...

Loved these lines the most:
तिनके उठा के रख दिए
यूँ खेल खेल में
लेकिन अरे यह देखो
आशियाना बन गया

Balvinder Singh said...

Thanks Manpreet.